Richard Branson

Founder Of Thee Virgin Group

. अपनी किसी बीमारी के कारण हाथ पर हाथ धरे बैठे रहने वालों को Richard Branson की लाइफ़ काफ़ी इंस्पायर करेगी, न सिर्फ़ शारीरिक प्रॉब्लम बल्कि अगर वैसे भी हम देखे तो Richard ऐसे बिलेनियर हैं, जिनकी गिनती टॉप लिस्ट में तो नहीं आती लेकिन उनके अप्स एंड डाउन्स और लाइफ़ को जीने के तरीके से अपने आपको बाकी बिलेनियर्स के जितना फ़ेमस बनाने में काफ़ी सफ़ल साबित होते हैं।

Richard Branson का जन्म 18 जुलाई 1950 को लंदन में हुआ, उनके पिता बैरिस्टर थे और उनकी माँ एयर होस्टेस थी, उन्हें डिस्लेक्सिया (पढ़ने-लिखने और नए वर्ड्स सीखने में परेशानी) नाम की बीमारी की वजह से 16 साल की उम्र में पढ़ाई छोड़नी पड़ी ।उसी बीमारी के कारण स्कूल में उनकी पहचान एक मंदबुद्धि के रूप में होने लगी थी, Branson के अकोर्डिंग स्कूल छोड़ने के लास्ट डे उनके हेडमास्टर में उन्हें कहा था कि या तो वो सारी जिंदगी जेल में बितायेंगे या फिर एक मिलियनर बनेंगे लेकिन उनकी दोनों बात झूट साबित हुई क्योंकि वो एक बिलेनियर बन गए ।

स्कूल छोड़ने के बाद उन्होंने क्रिसमस ट्री और बर्ड्स बेचने का काम किया लेकिन वो किसी रीज़न से फ़ैल हो गया, उसके बाद 1966 में Richard ने “Students” नाम की मैगज़ीन लॉन्च की, जिसकी पहली कॉपी 1968 में बिकी। मैगज़ीन लॉन्च करने के एक साल के अंदर Richard की नेट वर्थ 50000 पौंड हो गयी थी ।

Richard उस मैगज़ीन में कई म्युज़िक रिकार्ड्स और म्युज़िक एल्बम की एडवर्टाइज़ेमेंट प्रिंट करते थे और उन्होंने इस मैगज़ीन के चलते कई सेलेब्रिटीज़ के इंटरव्यू भी लिए । अपनी मैगज़ीन में दी जाने वाली एडवर्टाइज़ेमेंट की वजह से उन्हें खुद के रिकॉर्ड शोप खोलने का आईडिया आया, जो स्टार्टिंग में काफ़ी अच्छा चला लेकिन 1971 में परचेस टैक्स न भरने की वजह से उन्हें 70000 पौंड का फ़ाइन भरना पड़ा जिसके लिए उन्हें उनके पिता का घर गिरवी रखना उसके ठीक एक साल बाद 1

972 में Richard ने Nik Powell के साथ मिलकर Virgin Records नाम की कंपनी बनाई, हर बिज़नेसमैन की तरह उन्हें भी स्टार्टिंग में काफ़ी परेशानी का सामना करना पड़ा, कई परेशानियों के बाद उनकी ये कंपनी चल पड़ी, Virgin Records की सक्सेस के बाद Richard ने ट्रैवल सेक्टर में कदम रखा। 1984 में उन्होंने Virgin Atlantic Airways Limited नाम की कंपनी बनाई और 1985 में Virgin Holidays नाम की कंपनी भी बनाई, जिसमें वो लोगोंको Holidays और ट्रैवल पैकेज प्रोवाइड करने की सर्विसदेते हैं।

1992 में एक फ़ाइनेंसियल नुकसान के कारण उन्हें Virgin Atlantic Company को बेचना पड़ा, लेकिन उनके करियर की शुरुआत म्युज़िक रिकार्ड्स बेचकर हई थी, इसीलिए 1996 में उन्होंने फिर से म्यूज़िक इंडस्ट्री में कदम रखा और V2 Records नाम की कंपनी बनाई। अपने पुराने एयरलाइन्स बिज़नेस के जाने के बाद उन्होंने फिर से Euro Belgian Airlines नाम की कंपनी को एक्वायर कर लिया और उसे Virgin Express नाम दिया। 1997 में उन्होंने रेलवे के बिज़नेस में भी इन्वेस्ट किया और Virgin Rail Group नाम की कंपनी बनाई।

Richard का नाम उन बिज़नेसमैन में लिया जाता है जो फ़्यूचर को ध्यान में रखते हुए अपने समय से काफ़ी आगे का सोचते हैं, अब उन्होंने अपना ध्यान स्पेस टूरिज़्म में लगा लिया है, उसी के चलते 2004 में उन्होंने अनोउंसमेन्ट में बताया कि उन्होंने Virgin Galactic नाम की कंपनी बनाई है, जिसमें वो लोगों को फ़्यूचर में स्पेस टूरिज़्म की सर्विस प्रोवाइड करेंगे । 2008 से उन्होंने Virgin Healthcare नाम से क्लिनिक चैन भी बनानी शुरू की, जो आज सक्सेसफुल तरीके से चल रहा है, साथ ही उन्होंने लाइफ़ में कई फैलियर्स का भी सामना किया, उन्होंने Virgin Cola, Virgin Cars और Virgin Publishing नाम से बिज़नेस स्टार्ट किये लेकिन वो चल नहीं सके।

Virgin Group में आज 400 कंपनीज़ काम कर रही है, Richard 2020 के अनुसार 4 बिलियन डॉलर्स की संपत्ति के मालिक हैं, एक ऐसे इंसान जिनको अपनी बीमारी की वजह से अपनी पढ़ाई को बीच में छोड़नी पड़ी और कई असफ़लताओं के बाद भी अपने आप को एक बड़े मुक़ाम पर जमाएं रखना और ज़िन्दगी को एक अलग एडवेंचर के तरीके से देखने के नज़रिए को रखने वाले Richard से हमें बहुत कुछ सीखने को मिलता है।

“Business opportunities are like buses, there’s always another one coming.”- Richard Branson

Leave a Reply

error: Content is protected !!