Mohammad Ali The American Boxer

Mohammad Ali अमेरिका के प्रोफेशनल बॉक्सर थे, जिनको दुनिया का सबसे महान हैवीवेट बॉक्सर कहा जाता है। उन्होंने अपने करियर की ज़्यादातर फाइट नॉक आउट में जीती हैं, उन्होंने अपने करियर में 61 फाइट लड़ी जिसमें से उन्होंने 56 फाइट जीती और 37 फाइट्स में नॉक आउट करके जीती। वो अपने पूरे बॉक्सिंग करियर में सिर्फ़ 5 बार हारे । यही उन्हें दूसरे बॉक्सर से अलग और महान बनाता है।Mohammad Ali का जन्म 17 जनवरी 1942 को केंटकी, अमेरिका में हुआ ।

उनका नाम पहले Cassius Marcellus Clay Jr. था, उनके बॉक्सिंग की शुरुआत के पीछे भी एक इंटरेस्टिंग स्टोरी है । जब वो 12 साल के तब उनकी साइकिल चोरी हो गयी थी और जब वो पुलिस के पास गए तो उन्होंने पुलिस को कहा कि वो उस चोर को पंच मारना चाहते है, तब पुलिस वाले ने उनसे कहा कि अगर तुम्हें लोगों से लड़ना है तो तुम्हें लड़ना भी आना चाहिए।ये शब्द Mohammad Ali के लिए मोटिवेशन बन गए और तभी से उन्होंने बॉक्सिंग की ट्रेनिंग शुरू कर दी, जिस पुलिस ऑफिसर ने उन्हें ऐसा कहा था वो बॉक्सिंग की ट्रेनिंग भी देते थे, Mohammad Ali ने शुरुआत में उन्ही से अपनी ट्रेनिंग ली ।Mohammad Ali ने अपनी पहली फाइट 1954 में 12 साल की उम्र में जीती थी, 1956 में उन्होंने लाइट हैवीवेट टूर्नामेंट में जीत हासिल की।

1956 में Mohammad Ali ने बॉक्सिंग कोटा से रोम ओलिंपिक में क्वालीफाई किया, जहाँ अपनी परफॉर्मेन्स से लोगों के दिल जीत लिए, Ali ने अपनी तेज़ स्पीड और पॉवरफुल पंचेस से पोलैंड के नामी बॉक्सर Pietrzykowski को हराकर गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया।कुछ ही टाइम बाद वो उसी गोल्ड मेडल को पहन कर अपने किसी पास के रेस्टोरेंट में गए, जहाँ से उन्हें नस्ल भेद की वजह से निकाल दिया गया और उन्होंने गुस्से में वो गोल्ड मेडल पास की ओहियो नदी में फेंक दिया और अपनी जिद्द को बरकरार रख कर उन्होंने बॉक्सिंग करियर का डिसीज़ननहीं बदला।1963 में उन्होंने अपने पहले प्रोफेशनल मैच में Henry Cooper नाम के बॉक्सर को हराकर दुनिया को अपना दम दिखाया और 1964 में 22 की उम्र में Ali ने Sony Listen को हराया और पहली बार हैवीवेट चैंपियनशिप को अपने नाम किया, जहाँ उनका नाम दी ग्रेटेस्ट पड़ गया और उन्हें उसी नाम से बुलाया जाने लगा ।

8 मार्च 1971 को Mohammad Ali की फाइट Joseph William Fraizer के साथ हुई और फाइट 15 राउंड तक चली और Mohammad Ali को अपने 10 साल के करियर में पहली बार हार का सामना करना पड़ा, Mohammad Ali उस टाइम रेगुलर 31 मैच के विनर रह चुके थे वहीं Fraizer रेगुलर 26 मैच के विनर थे । 1990 में Saddam Husain ने 2000 होस्टेज को बंदी बना किया था जिसके चलते Mohammad Ali बिना किसी डर के Saddam Husain से बात करने बग़दाद गए और अपने साथ 15 होस्टेजेस को लेकर आये ।

1984 में Ali पार्किंसन बीमारी से पीड़ित हुए थे, उसके साथ – साथ 2016 मे उनको साँस लेने में तक़लीफ़ की वजह से हॉस्पिटल में एडमिट किया गया लेकिन अगले ही दिन उनकी मौत हो चुकी थी ।उनको BBC ने स्पोट्र्र्स पर्सनालिटी ऑफ दी सेंचुरी का सम्मान दिया।

“I hated every minute of training, but I said, ‘Don’t quit. Suffer now and live the rest of your life as a champion.” – Muhammad Ali

Leave a Comment

error: Content is protected !!