Bruce Lee Martial Arts

जब भी Martial Arts की बात आती है तो सबसे पहले Bruce Lee को याद किया जाता है, Bruce Lee दुनिया के सबसे बेस्ट Martial Artist में से एक थे । Bruce Martial Artist के साथ एक्टर, प्रोड्यूसर, राइटर और फिलॉसॉफर भी थे ।

Bruce की ज़िंदगी काफ़ी कम रही वो सिर्फ़ 32 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह गए लेकिन उनके दिए गए कॉन्ट्रिब्यूशन ने आज भी उन्हें लोगों के दिलो में ज़िंदा रखा हैं।Bruce Lee का जन्म 27 नवंबर 1940 को कैलिफ़ोर्निया में हुआ, उनके पिता एक ओपेरा सिंगर थे । Bruce Lee का बचपन होंग कॉन्ग में गुज़रा, मूवीज़ में उनकी एंट्री बचपन से ही हो गयी थी क्योंकि उनके पिता ऑलरेडी उसी लाइन में थे। Bruce Lee पहली बार 1941 में “Golden Gate Girl” मूवी में आये थे तब उनकी उम्र सिर्फ़ 3 महीने थी, 1946 तक Bruce Lee लगभग 20 फ़िल्म्स में चाइल्ड आर्टिस्ट के रूप में आ चुके थे।Bruce ने Martial Arts की शुरुआत 1953 में की क्योंकि वो चीनी थे और ब्रिटिश लड़के उनको परेशान करते थे, बस ये वजह उनको दुनिया का बेस्ट Martial Arts बनाने के लिए काफ़ी थी, Martial Arts सिख कर वो फिर से अपनी फ़ैमिली के पास अमेरिका चले गए।

यहाँ आकर वो बच्चों को Martial Arts सिखाया करते थे और वहीं उनकी मुलाक़ात Linda Emery से हुई जिनसे बाद में उन्होंने शादी की और वाशिंगटन में उन्होंने खुद का Martial Arts स्कूल खोल दिया, जहाँ वो बच्चों को Martial Arts की ट्रेनिंग देते थे। इसके बाद उन्होंने ओकलैंड और लॉस एंजेलिस में Martial Arts स्कूल खोले ।1958 में होंगकॉन्ग में हुए Cha-Cha डांस के कम्पटीशन में Bruce Lee विनर भी रह चुके थे ।उन्होंने अपनी लाइफ़ में जितने भी काम किये वो सब काम उन्होंने परफेक्शन और मास्टरी के साथ किये और इसके पीछे का प्रमुख कारण उनके काम करने की प्रैक्टिस थी, वो किसी भी काम की हद से ज़्यादा प्रैक्टिस करते थे।

1964 में Bruce ने जब ओकलैंड में अपना कराटे स्कूल खोल तब वहाँ Long Beach International Karate चैंपियनशिप में उन्होंने वन इंच पंच को फ़ेमस बना दिया। वन इंच पंच में वो किसी भी इंसान को सिर्फ़ एक इंच की दूरी से पंच मारकर बहुत ज़्यादा फ़ोर्स से नुकसान पहुँचा सकते थे। टू फिंगर पुश अप्स भी उन्होंने उसी कम्पटीशन में फ़ेमस किया था जो आज भी रिमार्केबल हैं।वो रोजाना 18 घंटे की प्रैक्टिस करते थे, जिससे उन्होंने अपने आप को इतना माहिर बना दिया था कि 1962 में Bruce Lee ने एक फाइट के दौरान अपने ओप्पोनेंट को 15 पंच और 1 किक एक साथ मारकर गिरा दिया था और वो Bruce Lee ने सिर्फ़ 11 सेकंड में कर दिया था।Bruce ने प्रैक्टिस से अपने आप को इतना फ़ास्ट बना दिया था कि “Enter The Dragon” शूटिंग के दौरान उनकी किक इतनी फ़ास्ट थी कि वीडियो को 34 फ्रेम्स स्लो करना पड़ा था, ताकि लोगों को वो किक फ़ेक ना लगे ।

Bruce Lee ने बहुत कम उम्र में अपने आप को एक लीजेंड बना दिया था, उनकी मौत सिर्फ़ 32 साल की उम्र में हो गयी थी, वो उनके अंतिम दिनों में सिर दर्द से परेशान थे, उन्हें सेरेब्रल इडिमा नाम की बीमारी थी, जिससे दिमाग़ में सूजन आ जाती है और साँस लेने में तक़लीफ़ होती है। 20 जुलाई 1973 को वो हॉन्गकॉन्ग में शाम के करीब 4 बजे अपनी अपकमिंग फिल्म “Game Of Death” से रिलेटेड कुछ काम से गए, जहाँ उन्हें सिर में दर्द महसूस हुआ और उन्होंने पैन किलर ली और सो गए और उसके बाद वो कभी नहीं उठे ।Bruce Lee ने हॉलीवुड में 7 फ़िल्म्स में काम किया जिनमें से 3 फ़िल्म उनके मरने के बाद रिलीज़ हुई थी फिर भी हॉलीवुड हॉल ऑफ फेम में Bruce Lee की फ़ोटो शामिल हैं।

Bruce Lee की मौत बहुत कम उम्र में होने के बाद भी टाइम मैगज़ीन के 20वी सदी के 100 प्रभावशाली व्यक्तियों में Bruce Lee का नाम आता है।उनकी लाइफ़ से हमें यही सीखने को मिलता है कि प्रैक्टिस और ट्रेनिंग के साथ किसी भी काम में महारत को हासिल किया जा सकता है। आपको लीजेंड बनने के लिए कोई बड़ी उम्र पाने की ज़रूरत नहीं होती, आप कितने परफेक्शन के साथ में दुनिया में अपने काम की छाप छोड़ते हो दुनिया के लिए वो ज़्यादा मैटर करता है ।

“As you think, so shall you become.”- Bruce Lee

Leave a Reply

error: Content is protected !!