Albert Einstein The Theory Of Relativity

Albert Einstein जितने बड़े साइंटिस्ट थे उनका रहन-सहन और पहनावा उतना ही सिंपल और मिनिमल था । उनको देखकर ये नहीं लगता था कि वो दुनिया के इतने महान साइंटिस्ट हैं, जिन्होंने दुनिया को ऐसे रेवोल्यूशनरी फ़ॉर्मूला दिए हैं, जिन्हें पूरी दुनिया रेस्पेक्ट की नज़र से देखती हैं, जिनके कामों की वजह से उन्हें नोबेल प्राइज़ जैसे बड़े अवार्ड से नवाज़ा गया।Albert Einstein का जन्म 14 मार्च 1879 को जर्मनी के एक साधारण फ़ैमिली में हुआ जिनके पिता एक इलेक्ट्रॉनिक वर्कशॉप चलाते थे, Einstein बचपन से अपने अंकल के पास रहे, जिन्होंने Einstein की इंटेलिजेंस को बचपन से साइंस की और मोड़ा और उन्हें गिफ़्ट में साइंस से जुड़े इंस्ट्रूमेंट्स ही दिए ताकि उनका इंटरेस्ट साइंस में बना रहे और ऐसा ही हुआ ।Einstein ( यहूदी ) जेविश फ़ैमिली से बिलोंग करते थे लेकिन उन्होंने पढ़ाई एक कैथोलिक स्कूल में की क्योंकि वो यहूदी परम्पराओं को ज़्यादा महत्व नहीं देते थे इसलिए उन्होंने हाई स्कूल भी लुइटपोल्ड जिम्नेजियम (अल्बर्ट आइंस्टीन जिम्नेजियम) से की ।

Einstein बचपन से साइंस में इंटरेस्ट के चलते 1909 में म्युनिक यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर बन गए। उसके बाद Kaiser Wilhelm Society University के डायरेक्टर भी बने, वो बड़े साइंटिस्ट के साथ-साथ एक उदार इंसान भी थे।वो बहुत दयालु इंसान थे, जब जर्मनी में वायलेंस हुआ तब Einstein ने उसकी बहुत निंदा की और उन्हें इसी रीज़न की वजह से जर्मनी छोड़ना पड़ा क्योंकि वो खुद को एक साइंटिस्ट और एक नॉर्मल इंसान मानते थे। Einstein हमेशा अपने आप को एक साधारण और नॉर्मल टाइप का इंसान बनाये रखते थे, उनको फ़ेमस होना ज़रा भी पसंद नहीं था लेकिन उन्हें हमेशा रेस्पेक्ट और फेम मिलता जा रहा था क्योंकि वो ऐसा रिमार्केबल काम किये जा रहे थे कि वो छुपाए नहीं छुप रहे थे ।

Albert Einstein जब नोबेल प्राइज़ लेने स्कोटहोल्म गए तो वो अपना पुराना घिसा-पीटा जैकेट पहन कर गए थे जो उनके दोस्त ने कई साल पहले दिया था ताकि वो नॉर्मल इंसान जैसे दिखे लेकिन वहाँ भी ऐसा नहीं हुआ, उन्हें बाकी लोगों से अलग और ज़्यादा रेस्पेक्ट दी गयी ।Einstein के पास जर्मनी के अलावा स्विट्ज़रलैंड, ऑस्ट्रिया और अमेरिका की भी सिटीज़नशीप थी।Einstein ने अपनी पूरी लाइफ़ में कई फील्ड में अपना कॉन्ट्रिब्यूशन दिया जैसे The Special And General Theories Of Relativity, General Relativity, Special Relativity, Photoelectric Effect, E=mc2 (Mass-Energy Equivalence), E=hf (Planck-Einstein Relation), Theory Of Brownian Motion, , Einstein Field Equations, Bose – Einstein Statistics etc. और लगभग 300 से ज़्यादा साइंस रिसर्च लेटर्स लिखे।

“Imagination is more important than knowledge.” – Albert Einstein

Leave a Reply

error: Content is protected !!